मुख्यमंत्री द्वारा उद्योगपतियों को राज्य के ग्रामीण इलाकों में यूनिट स्थापित करने का न्योता

0
40

राज्य के औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के मकसद से उठाया कदम

उद्योग के लिए विशेष तौर पर स्थापित होंगे सब-स्टेशन

पहले लोग सफलता शब्द सुनने से डर जाते थे क्योंकि राजनीतिज्ञ कारोबार में से हिस्सेदार ढूंढते थे

हमारे पास लोगों को लूटने का तजुर्बा नहीं परन्तु अस्पताल, स्कूल और अन्य भलाई कामों के द्वारा लोगों की सेवा करने का तजुर्बा

जालंधर, 14 सितम्बरः

राज्य के औद्योगिक विकास ख़ास कर ग्रामीण इलाकों के विकास और नौजवानों के लिए रोज़गार के मौके पैदा करने के लिए बड़ा प्रयास करते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने आज उद्योगपतियों को राज्य के ग्रामीण इलाकों में औद्योगिक यूनिट स्थापित करने का न्योता दिया।

आज यहाँ ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ के दौरान अपने विचार पेश करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में उद्योगपतियों को प्रफुल्लित करना समय की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि इस कदम से दोहरा उद्देश्य पूरा होगा क्योंकि इस से जहाँ औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा, वहीं ग्रामीण क्षेत्र के नौजवानों के लिए रोज़गार के नये आयाम स्थापित होंगे। भगवंत सिंह मान ने उद्योगपतियों को इन इलाकों में अपने यूनिट स्थापित करने में पूर्ण सहयोग करने का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उद्योगों के विकास में तेज़ी लाने के लिए वचनबद्ध है।

मुख्यमंत्री ने लोगों की सेवा करने के मकसद से आई. आर. एस. का प्रतिष्ठित पद त्याग देने के लिए अरविन्द केजरीवाल की सराहना की। उन्होंने कहा कि अरविन्द केजरीवाल ने हमेशा ही गरीबों और दबे-कुचले लोगों की सेवा की। भगवंत सिंह मान ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के खि़लाफ़ शुरु की जंग के दौरान आम आदमी पार्टी का गठन किया जिसकी शुरुआत दिल्ली के राम लीला मैदान से हुई थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल ज़मीनी स्तर पर दिल से लोगों से जुड़े हुए नेता हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री के निरंतर प्रयासों स्वरूप आम आदमी पार्टी आज देश की एक राष्ट्रीय पार्टी है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री का एकमात्र उद्देश्य लोगों की निष्काम सेवा करना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जालंधर में कनवैन्शन सैंटर स्थापित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यह केंद्र एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन की नजदीकी जगह पर स्थापित किया जायेगा जिससे उद्योगपतियों को सुविधा मिल सके। भगवंत सिंह मान ने कहा कि उनका हरेक प्रयत्न राज्य में औद्योगिक विकास के लिए होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बहुत गौरव और संतोष की बात है कि एम. एस. एम. ई. सेक्टर में पंजाब ने देश भर में से बाज़ी मारी है। उन्होंने कहा कि पंजाब में 2.75 लाख एम. एस. एम. ई. यूनिटों की रजिस्ट्रेशन हुई है जो मुल्क में अब तक सबसे अधिक है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि एम. एस. एम. ई. की राज्य और देश के सामाजिक- आर्थिक विकास में बड़ी भूमिका है।

विरोधी पक्ष पर तीखा हमला करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता में होते हुए लोगों में जाने की बजाय महलों में रहने वाले राजनीतिज्ञों को इन लोगों ने ही राज्य के राजनैतिक नक्शे से मिटा दिया। उन्होंने कहा कि राज्य में अब नये युग का आरंभ हुआ है और जो लोग अपने आप को अजेय समझते थे, उन्होंने लोगों को पंजाब निवासियों ने सत्ता के गलियारों से उखाड़ कर घर बिठा दिया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब में अब बदलाव देखा जाने लगा है क्योंकि पहली बार शासन में जन हितैषी फ़ैसलों को प्राथमिकता मिलने लगी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लोग इन तजुर्बेकार राजनीतिज्ञों से ऊब चुके थे क्योंकि यह लोग अपने संकुचित हितों के लिए सत्ता का दुरुपयोग करते थे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि इन नेताओं ने लोगों को हमेशा ही गुमराह किया है जिस कारण इनको लोगों ने बुरी तरह नाकार दिया। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के पास लोगों को लूटने का तजुर्बा तो नहीं हो सकता परन्तु निश्चित रूप से तौर पर हमारे पास अस्पताल, स्कूलों और अन्य लोक भलाई के काम करके लोगों की सेवा करने का तजुर्बा ज़रूर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों के दौरान लोग सफल होने से डरते थे क्योंकि नेता उनके काम में अपना हिस्सा डाल लेते थे। उन्होंने कहा कि इन नेताओं ने जनता को ख़ासकर सफल उद्योगपतियों को लूटा है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पिछली राज्य सरकारों द्वारा उद्योगपतियों पर कई तरह की पाबंदियाँ लगाई गई थीं और फिर उनको बाद में चोर भी कहा गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब राज्य में सिंगल सिंगल विंडो सिस्टम वाली औद्योगिक अनुकूल सरकार है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पिछली सरकारों में यह व्यवस्था केवल एक धोखा था क्योंकि किसी ने भी इसका असली अर्थों में प्रयोग नहीं किया। उन्होंने कहा कि पहले समझौतों पर परिवारों के साथ दस्तखत किये जाते थे परन्तु अब राज्य और यहाँ के लोगों के साथ किये जाते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के ठोस यत्नों के स्वरूप पछवाड़ा कोयला खान से कोयले की रुकी हुई सप्लाई 2015 के बाद फिर शुरू हो गई है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पिछली सरकारों ने इस कोयला खान से सप्लाई रोककर प्राईवेट थर्मल प्लाट से ग़ैर-कानूनी ढंग से पैसा एकत्र किया था। उन्होंने कहा कि धान के सीजन के दौरान भी उद्योगों को निर्विघ्न बिजली मुहैया करवाई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पंजाब को देश का औद्योगिक केंद्र बनाने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की वित्तीय अनियमितताओं के कारण राज्य गंभीर समस्या का सामना कर रहा है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य के आर.डी.एफ के फंड भी रोक दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार राज्य के हितों की रक्षा के लिए डटकर संघर्ष कर रही है। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा राज्य को रेल शिप रेल के द्वारा कोयला मुहैया करवाने के फ़ैसले का हवाला देते हुए कहा कि राज्य सरकार के विरोध के बाद यह फ़ैसला वापस लिया गया है। भगवंत सिंह मान ने कहा कि यह राज्य के साथ बेइन्साफ़ी है जिस का डटकर विरोध किया जायेगा।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उद्योगों को बिजली मुहैया करवाने के लिए विशेष सब स्टेशनों का निर्माण करेगी। उन्होंने कहा कि यह राज्य में उद्योगों को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभाएंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य में आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करना समय की माँग है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव के दौरान लोगों के साथ बड़े-बड़े वायदे करने वाली अन्य पार्टियों के उलट ‘आप’ द्वारा लोगों के साथ किये हर वायदे को पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली और अन्य क्षेत्रों सम्बन्धी लोगों के साथ किये वायदे पूरे कर दिए गए हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जो वायदे लोगों के साथ नहीं भी किये गए थे, उनको भी पूरा कर दिया गया है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार फोकल प्वाइंटों के निर्माण के लिए सी.एस.आर. फंडों का प्रयोग करने के लिए नीति पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अमन-कानून बरकरार रखने के लिए फोकल प्वाइंटों और औद्योगिक क्षेत्रों में पुलिस चौकियाँ बनाई जा रही हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले 18 महीनों में ऐसे बेमिसाल काम किये हैं जो पिछली सरकारें अपने 70 सालों के से अधिक कार्यकाल में नहीं कर सकीं।

 इस मौके पर कैबिनेट मंत्री अनमोल गगन मान ने गणमान्यों का स्वागत किया।

 पंजाब के मुख्य सचिव अनुराग वर्मा ने राज्य सरकार के कार्यकाल के पिछले 18 महीनों के दौरान राज्य में हुए औद्योगिक विकास के बारे संक्षिप्त पेशकारी दी।

इस मौके पर अन्यों के अलावा कैबिनेट मंत्री बलकार सिंह और अनमोल गगन मान, लोक सभा मैंबर सुशील कुमार रिंकू, राज्य सभा मैंबर राघव चड्ढा, संत बलबीर सिंह सीचेवाल, विक्रमजीत साहवनी, अशोक मित्तल और संजीव अरोड़ा उपस्थित थे।