उद्योगपतियों द्वारा ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ के प्रयास की सराहना

0
42

जालंधर, 14 सितम्बरः

पंजाब सरकार द्वारा ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ के दौरान स्थानीय उद्योगों के दिग्गज़ों ने आज राज्य भर में ऐसीं मिलनियां करवाने के लिए धन्यवाद करते हुये कहा कि इस प्रयास से राज्य के औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।

उद्योगपतियों ने आज पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साथ विचार- चर्चा के दौरान सरकार-उद्योगपति मिलनी का ज़िक्र विशेष तौर पर करते हुये कहा कि उद्योगपतियों को अपने विचार प्रकट करने का उपयुक्त मंच मिला है। उद्योगपतियों द्वारा उठाए विभिन्न मसलों के बारे मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने मौके पर ही कई ऐलान करते हुये सम्बन्धित अधिकारियों को उद्योगपतियों की माँगों पूरी करने के लिए उचित कदम उठाने के लिए कहा।

अल्फा पैकेजिंग इंडस्ट्री के मनीष अरोड़ा ने मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान का लम्बे समय से लटकते आ रहे मुद्दों को हल करने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि लैदर कंपलैक्स में औद्योगिक इकाईयों को जाने वाली मुख्य सड़क ख़स्ता हालत में थी, जिसका निर्माण किया जा रहा है जिससे रोज़मर्रा के आने वाले यात्रियों और मज़दूरों को बड़ी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि यहाँ 350 के करीब बिजली के खंबे हैं और लाईटें लगाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही सिवरेज सिस्टम के लिए टैंडर पहले ही जारी किये जा चुके हैं।

उद्योगपति गुरशरन सिंह ने उद्योगपतियों की माँगों गौर से सुनने के लिए पंजाब सरकार का धन्यवाद करते हुये लम्बित मसलें मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाये। उनकी तरफ से रखी माँगों को स्वीकृत करते हुये भगवंत सिंह मान ने भरोसा दिया कि उक्त मसलों के सुखद हल के लिए जल्द ही उद्योगपतियों और सम्बन्धित अधिकारियों की मीटिंग तय की जायेगी।

उद्योगपति नरिन्दर सिंह सग्गू और गौतम कपूर ने पंजाब सरकार के इस प्रयास की सराहना करते हुये माँग की कि यह मीटिंगें कुछ महीनों के समय के बाद नियमित तौर पर करवाई जाएँ। गौतम कपूर ने कहा कि उद्योगपतियों के साथ आज की मुलाकात पिछले 43 सालों में पहली है, जोकि बहुत ही सराहनीय है। सावी इंटरनेशनल के मुकुल वर्मा ने जिले में खेल और हैड टूल उद्योग को और विकसित करने के लिए ज़मीन के एक बड़े हिस्से की माँग की और उद्योग की सेहत संभाल ज़रूरतों को पूरा करने के लिए ई. एस. आई. अस्पताल को पुर्नोद्धार की माँग की। इस दौरान गुरचरन सिंह ने एम. एस. एम. इज का हाथ थामने के लिए सरकार का धन्यवाद किया, जिससे इन इकाईयों को और बढ़ावा मिलेगा।

सुखजीत स्टार्च एंड कैमीकलज़ के सीनियर वाइस प्रैज़ीडैंट और सी. ई. ओ. भवदीप सरदाना ने उद्योगों की बिल्डिंग प्लान से सम्बन्धित मंज़ूरियों को फिर फैक्टरीज विभाग के हाथों में देने के लिए पंजाब सरकार की सराहना की, जिससे मंज़ूरियां लेने में लगता समय कम गया है और उद्योगों को अपेक्षित राहत मिली है। इसके साथ ही 57 सुधारों के साथ सुखद माहौल में कारोबार करने के समूचे नियमों में भी सुधार हुआ है। उद्योगपति शरद अग्रवाल, जो हैंडटूलज़ और आटो कम्पोनेंट्स उद्योग में 200 करोड़ रुपए का निवेश कर रहे हैं, ने भी राज्य में निवेश के लिए अपनी योजना सांझा की। बायो-गैस प्लांट स्थापित करने के लिए तुरंत मंजूरियां हासिल करने के अपने तजुर्बे को सांझा करते हुए गौरव कैथवाल ने उद्योग अनुकूल पहलकदमियों के लिए राज्य सरकार का धन्यवाद किया।

मुख्यमंत्री ने उद्योग जगत को भरोसा दिलाया कि पंजाब सरकार भविष्य में भी उद्योग हितैषी फ़ैसले लेने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है।